दिल्ली में जहां ट्रैक्टर परेड के दौरान जमकर उपद्रव हुआ वहीं देश के अन्य भागों में किसानों की ट्रैक्टर रैली शांतिपूर्ण रही। कृषि कानूनों के विरोध में किसानों ने महाराष्ट्र कर्नाटक तमिलनाडु तेलंगाना आंध्र प्रदेश और केरल में रैली निकाली।
कोरोना महामारी के खिलाफ लड़ाई में भारत की स्थिति लगातार बेहतर हो रही है। देश में आठ महीने में पहली बार एक दिन में सबसे कम नए मामले सामने आए हैं और मौतें हुई हैं। केरल में फिर छह हजार से ज्यादा नए मामले सामने आए हैं।
Tractor rally update उपद्रव में 83 पुलिसकर्मी घायल हुए हैं जिन्हें उपचार के लिए लोकनायक अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उपद्रवियों की इस करतूत ने किसानों के नाम पर दो महीने से चल रहे आंदोलन और इसके पीछे की मंशा पर भी सवाल खड़े कर दिए हैं।
किसान यूनियनों की संस्था संयुक्त किसान मोर्चा ने दिल्ली में ट्रैक्टर रैली के दौरान हिंसा और उपद्रव करने वालों से खुद को अलग करते हुए स्वीकार किया कि उसके शांतिपूर्ण आंदोलन में अराजक तत्वों की घुसपैठ हो गई है।
पत्र में उमा भारती ने लिखा है कि शहर से बाहर हलाली नाम का स्थान विश्वासघात की उस कहानी की याद दिलाता है जिसमें मोहम्मद खान ने भोपाल के आसपास के अपने मित्र राजाओं को यहां बुलाकर धोखा देकर उनका सामूहिक कत्ल करवा दिया था।
भाजपा के प्रवक्ता संबित पात्रा ने तीन कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शनकारी किसानों की ट्रैक्टर परेड के हिंसक होने पर कहा कि इतने दिनों से उन्हें अन्नदाता के तौर पर देख रहे थे वह अब चरमपंथी बन गए हैं।
फेसबुक पहली बार 13 लाख से ज्यादा सामाजिक मुद्दों चुनावी और राजनीतिक विज्ञापनों से जुड़ी लक्षित सूचनाएं शोधकर्ताओं को उपलब्ध कराएगी। ये आंकड़े एक फरवरी से फेसबुक ओपन रिसर्च एंड ट्रांस्परेंसी प्लेटफार्म के जरिये मिलेंगे। अमेरिकी चुनाव के बारे में भी जानकारी होगी।